विहिप द्वारा नारद जयंती आयोजन- प्रत्येक पत्रकार अपनी कलम से किसी न किसी रूप में समाज की सेवा करता है — दीपक भार्गव

डबरा हरीशंकर साहू indialive24news

डबरा ब्रेकिंग

डबरा/आज विश्व हिंदू परिषद जिला डबरा द्वारा नारद जयंती समारोह का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में दीपक भार्गव सह प्रांत प्रचार प्रसार प्रमुख विश्व हिंदू परिषद, मुख्य अतिथि श्री रामानंद गुप्ता पत्रकार, विशिष्ट अतिथि भारत सिंह परमार, विभाग मंत्री विश्व हिंदू परिषद एवं डॉक्टर कौशलेंद्र श्रीवास्तव मुख्य रूप से मौजूद रहे।
नारद जयंती के उपलक्ष में वर्तमान समय में पत्रकारिता को चुनौती विषय पर अपने उद्बोधन में मुख्य वक्ता दीपक भार्गव ने कहा कि पत्रकारिता की जिम्मेदारी और प्रासंगिकता बहुत बढ़ गई है क्योंकि पत्रकार समाज की दिशा तय करने की ताकत रखता है। मीडिया ही देश की छवि विश्व के सामने रखता है। मीडिया को निष्पक्ष रहकर कार्य करना चाहिए। पत्रकार अपनी लेखनी से समाज की दशा और दिशा बदलने की ताकत रखता है। प्रत्येक पत्रकार अपनी कलम से किसी न किसी रूप में समाज की सेवा करता है।

नारद मुनि पत्रकारिता के पितामह थे, जिन्होंने समाज में संवाद का कार्य शुरू किया था। नारद के पास श्रुति स्मृति थी। आजादी से पहले और अब की पत्रकारिता में काफी बदलाव देखने को मिल रहा है। आजादी से पहले अधिकतर पत्रकारों संपादकों ने देश को आजाद करवाने के लिए लेख लिखे। जिस जनून के साथ उन्होंने काम किया उनकी पत्रकारिता रंग लाई और लोगों में जागृति आने के अलावा भारत आजाद भी हुआ लेकिन वर्तमान में कुछ कारपोरेट घरानों के हाथ पत्रकारिता का सिस्टम आने के बाद इसमें काफी बदलाव आया है। पत्रकारिता के लिए व्यवसाय करना तो ठीक है, लेकिन व्यवसाय के लिए पत्रकारिता करना उचित नहीं है। आज भी बहुसंख्यक पत्रकारों के लिए पत्रकारिता शौक या रोजी-रोटी का जरिया न होकर स्वप्रेरित कार्य ही है। कोरोना संकट के दौरान जिस प्रकार की भूमिका पत्रकार निभा रहे हैं, वह उसी प्रेरणा व संकल्प के कारण है। आज कोरोना काल की संकट घड़ी में भी पत्रकार अपनी जान हथेली पर रखकर रिपोर्टिंग कर रहे हैं और देश दुनिया के समाचार हम तक पहुंचा रहे हैं। समाज पत्रकारों का सदैव ऋणी रहेगा।
इसलिए पत्रकारिता की पवित्रता एवं विश्वसनीयता सदैव निष्कलंक रहनी चाहिए।
वैश्विक स्तर पर नारद सही मायनों में लोक संचारक थे। जिनके प्रत्येक संवाद की परिणति लोक कल्याण पर आधारित थी। जो औपचारिक मान्यता न होने पर भी सर्वत्र सूचना प्राप्त व प्रदान करने के लिए स्वीकार्य थे। जिनकी विश्वसनीयता पर कभी कोई संदेह नहीं रहा। इसलिए आज नारद जयंती पर मीडिया में भारत केंद्रित दृष्टि को संकल्पित करने का दिन है। अव्यवस्था, गड़बड़ियों, खामियों को उजागर करने के साथ-साथ सूचना के माध्यम से समाज का प्रबोधन, जागरण करते हुए समाज को ठीक दिशा में ले जाना, समाज की विचार प्रक्रिया को सही दिशा देना यह भी मीडिया का कर्तव्य है। मीडिया को आज अपनी इस भूमिका का निर्वहन करना ही चाहिए। यही समाज व देश की आवश्यकता है और पत्रकारिता में यही नारदीय दृष्टि मीडिया के स्वर्णिम भविष्य को तय भी करेगी। मुख्य अतिथि के उद्बोधन में श्री रामानंद गुप्ता जी ने कहा कि वर्तमान समय में पत्रकारिता नारद जी की पत्रकारिता की दृष्टि को आधार बनाकर राष्ट्र हित में करें तो इससे भारत हीं नहीं अपितु संपूर्ण विश्व का भला होगा, कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर कौशलेंद्र श्रीवास्तव ने किया। कार्यक्रम के अंत में पत्रकारों का अंग वस्त्र एवं प्रशस्ति पत्र देकर अतिथि गणों ने अभिवादन एवं सम्मान किया। कार्यक्रम में अन्य उपस्थित लोगों में रविंद्र चौहान ,संदीप सैनिक, लोकेश अग्रवाल ,प्रभु सिंघल, अनिल शर्मा ,भूपेंद्र भार्गव ,विक्रम पाल, बंटी भदोरिया, सचिन मारवाड़ी, शिवम सेन ,नरेश शिवहरे, गजराज सिंह बघेल, भावना शर्मा, सूरजभान आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *